रमज़ान 2019 : रमज़ान का चांद दिखा, आज है पहला रोजा

 In Hinduism

रमज़ान 2019: रमज़ान का चांद दिखा, आज है पहला रोजा

नयी दिल्ली, 7 मई;  सोमवार यानी 6 मई को रमजान का चांद दिख जाने के बाद माह-ए-रमज़ान की शुरुआत हो गई है और पहला रोजा 7 मई को है. कुरआन शरीफ में अल्लाह फरमाता है, हमने तुम पर रोजे फर्ज किए जैसे तुमसे पहली उम्मतों पर फर्ज किए थे. रमज़ान के रोजे फर्ज (अनिवार्य हर बालिग और तंदरुस्त पर) हैं. सवेरे सहरी खाना सुन्नत है और रोजे रखना फर्ज. इस महीने कुरआन शरीफ नाजिल हुआ था. इसलिए भी यह पूरा महीना इबादत का है.

रोज़े 15 घंटे से अधिक

रमजान में इस साल भी रोजेदारों का कड़ा इम्तिहान होगा. लगभग सभी रोजे 15 घंटे से अधिक के होंगे. अभी तक यही माना जा रहा है कि  ईद 4 या 5 जून को होगी.

यह भी पढ़ें – Ramadaan 2019 begins today in India, Bangladesh and Pakistan

सहरी और इफ्तार का समय

शिया के सहरी और इफ्तार के समय में अंतर और भी बढ़ जाएगा. रमज़ान का आखिरी शुक्रवार यानी जुमा 31 मई को होगा. दिल्ली में सहरी 3.51 बजे तड़के होगी और इफ्तार 7.15 बजे होगा. वहीं, कुछ जगह यह अवधि 3.39 बजे प्रात: से 7.11 बजे तक रहने की संभावना है.

यह भी पढ़ें – रमजान में दातून को क्यों दी जाती है इतनी अहमियत

सहरी बहुत जल्द

सहरी खाकर और रोजे की नीयत करके ही रोजों की शुरुआत होती है. इस बार कहीं सहरी का वक्त 3.57 बजे है, तो कहीं पर 4.07 बजे. तहाज्जुद की नमाज के थोड़े समय बाद ही सहरी शुरू हो जाएगी. इफ्तार का वक्त शाम 7 बजे के आसपास है.

Recommended Posts
Contact Us

We're not around right now. But you can send us an email and we'll get back to you, asap.

Not readable? Change text. captcha txt

Start typing and press Enter to search