Japa Meditation: अध्यात्म के साथ मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य की कुंजी है जप ध्यान

 In Meditation

Japa Meditation: अध्यात्म के साथ मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य की कुंजी है जप ध्यान

जब कभी आप कार्यस्थल की समस्याओं, पारिवारिक जिम्मेदारी, या जीवन में किसी भी आगामी बाधा में फंस जाते है, तो ऐसे में जीवन के सुख का अनुभव हम नहीं ले पाते है.

ऐसे में ध्यान ही चिंता से मुक्ति दिलाकर हमें सुखदायक राहत प्रदान करता है. मन को केंद्रित करने, आंतरिक आत्म और युद्ध के तनाव से जुड़ने के लिए ध्यान एक शक्तिशाली और प्रभावी तरीका माना जाता है.बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक सभी ने जीवन के सभी क्षेत्रों के अरबों समस्याओ, नकारात्मकताओं और अवसाद से राहत के लिए ध्यान को किया है.ध्यान के कई प्रकार है आप इसमें से कुछ भी चुन सकते है, हमारी सलाह है की आप एक बार जप ध्यान को अपनाकर देखे.

Japa Meditation जिसे मंत्र ध्यान भी कहा जाता है. यह एक ऐसी तकनीक है ,जिसमे मंत्रो और जाप की ऊर्जा की मदद मिलती है जिससे आप शांत मन से अपने विचारो पर फोकस कर सकते है. यह ध्यान किसी भी धर्म का पालन करने वाले लोगों तक ही सीमित नहीं है.हालांकि, विभिन्न धार्मिक श्रद्धालुओं के लोग ध्यान के इस रूप को अभ्यास करने के लिए अपने स्वयं के मंत्र चुनते हैं.

यह भी पढ़ें-OM Meditation : क्या है ॐ ध्यान (मेडिटेशन) और उसके लाभ

Japa Meditation: जप ध्यान कैसे करे

आप दिन के किसी भी समय जप ध्यान का अभ्यास कर सकते हैं हालांकि सुबह का समय एक आदर्श समय माना जाता है.इसका दो तरीकों से अभ्यास किया जा सकता है:-

सुनाई देने योग्य जप ध्यान

इसे वैखरी जप भी कहा जाता है ,यह ध्यान का ऐसा रूप है जिसमें ताल या मंत्र या भजन का पाठ शामिल है.कुछ ध्यानी मंत्रो को गुनगुनाते है.

मौन जप ध्यान

इसे मानसिक जप भी कहा जाता है,  यह एक ऐसी प्रक्रिया है जहां आपको इस तरीके से भजन का जप करना है जो सुनाई न दे सके. इस क्रिया का अनुसरण करना मुश्किल हो सकता है.

लेकिन जब आप मन को कण्ट्रोल कर लेते हैं, तो आप किसी भी बाहरिक बाधाओं से प्रभावित होने से बच सकते है.जप ध्यान के किसी भी रूप का अभ्यास करने के लिए, आप फर्श पर एक चटाई या आसन बिछा सकते है.फिर पीठ को सीधे रखते हुए फर्श पर क्रॉस लेग में बैठ जाए.इसे करने के लिए आप अपनी आवश्यकता अनुसार आधा घंटे या उससे ज्यादा समय के लिए ध्यान करना चुन सकते हैं.साथ ही आप समय की अवधि धीरे-धीरे बढ़ाने की कोशिश कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें-Anapanasati Meditation: क्या है आनापानसति ध्यान विधि

जप मैडिटेशन के लाभ

  1. जप मैडिटेशन को नियमित रूप से करने से यह बेहतर फोकस और एकाग्रता को बढ़ाने में मदद करता है.
  2. अगर आप जप मैडिटेशन को रोज करते है तो यह आपके मन को शांत करता है.
  3. जप मैडिटेशन आपकी प्रोडक्टिविटी को बढ़ाने में मददगारहै.
  4. जप मैडिटेशन करने से शरीर में लचीलापन आता है.साथ ही यह जागरूकता को भी बढ़ाता है.

जप ध्यान को करने के लिए मंत्र और मंत्र को जप करने की आवश्यकता के बारे में कोई कठोर नियम नहीं है.हालांकि, अधिकांश अनुयायी जप करने के लिए शब्द ‘ओम’ का चुनाव करते हैं.यह एक देवता या पवित्र शब्द का नाम भी हो सकता है बस शब्द का सकारात्मक अर्थ होना चाहिए

————————————————————————————————————

रिलीजन वर्ल्ड देश की एकमात्र सभी धर्मों की पूरी जानकारी देने वाली वेबसाइट है। रिलीजन वर्ल्ड सदैव सभी धर्मों की सूचनाओं को निष्पक्षता से पेश करेगा। आप सभी तरह की सूचना, खबर, जानकारी, राय, सुझाव हमें इस ईमेल पर भेज सकते हैं – religionworldin@gmail.com– या इस नंबर पर वाट्सएप कर सकते हैं – 9717000666 – आप हमें ट्विटर , फेसबुक और यूट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।
Twitter, Facebook and Youtube.

Recommended Posts
Contact Us

We're not around right now. But you can send us an email and we'll get back to you, asap.

Start typing and press Enter to search