अमरनाथ यात्रा विशेष:  बाबा बर्फानी की यात्रा आरंभ, पहला जत्था हुआ रवाना

 In Hinduism

अमरनाथ यात्रा विशेष:  बाबा बर्फानी की यात्रा आरंभ, पहला जत्था हुआ रवाना

श्रीनगर, 27 जून;  बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए प‌वित्र अमरनाथ यात्रा आज से शुरू हो गई. यात्रा के लिए इस साल 1.96 लाख श्रद्धालुओं ने रजिस्ट्रेशन कराया है. जम्मू-कश्मीर के संवेदनशील इलाकों से गुजरने वाली इस यात्रा के लिए अभूतपूर्व सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं.

पहला जत्था जम्मू पहुंचा

बुधवार को को श्रद्धालुओं का पहला जत्था जम्मू के भगवती नगर यात्री निवास से गुफा की तरफ रवाना हुआ. इस बार श्रद्धालुओं के लिए विशेष सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं. हर जत्था इसी तरह की निगरानी में रहेगा.

हिज्बुल ने कहा नहीं करेंगे हमला

अमरनाथ यात्री हमारे मेहमान हैं उन पर कोई हमला नहीं करेंगे. कश्मीर घाटी में आने वाले श्रद्धालुओं को हिज्बुल मुजाहिदीन ने कथित ऑडियो संदेश के जरिए भरोसा दिलाया है.

सालाना अमरनाथ यात्रा के लिए इस पर सरकार ने जबरदस्त सुरक्षा का दावा किया है. लेकिन आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के मुताबिक वो यात्रियों को निशाना नहीं बनाएगा क्योंकि वो कश्मीर घाटी के लोगों के मेहमान हैं.

सुरक्षा के कड़े इंतजाम


इस यात्रा के लिए सुरक्षा बलों की 213 अतिरिक्त कंपनियां जम्मू-कश्मीर में तैनात की गई हैं. करीब 40 हजार जवान यात्रियों की सुरक्षा करेंगे. इनमें पैरामिलिट्री फोर्सेस यानी अर्द्ध सैनिक बलों के अलावा, राज्य पुलिस और एनडीआरएफ की टीमें भी शामिल हैं.  पहली बार श्रद्धालुओं की गाड़ियों पर रेडियो फ्रीक्वेंसी टैगिंग की गई है. इसके अलाव ड्रोन्स और पुलिस की मोटर साइकल स्कवॉड भी हर पल पैनी नजर रखेगी.

इलेक्ट्रॉनिक और ह्यूमन इंटेलिजेंस की मदद ली जा रही है. श्रद्धालुओं के बीच सादे कपड़ों में पुलिस हर संदिग्ध हरकत पर नजर रखेगी.

कश्मीर घाटी के बालटाल और पहलगाम में श्रद्धालुओं के बेस कैम्प बनाए गए हैं. बता दें कि श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड के चेयरमैन जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल एनएन. वोहरा हैं. बोर्ड ही इस यात्रा का आयोजन करता है.

 

 

 

Recommended Posts
Contact Us

We're not around right now. But you can send us an email and we'll get back to you, asap.

Not readable? Change text. captcha txt

Start typing and press Enter to search