अब Twitter पर नहीं होंगी धर्म-आधारित Hate Posts  

 In Baha'i, Buddhism, Christianity, Hinduism, Islam, Jainism, Judaism, Sikhism

अब Twitter पर नहीं होंगी धर्म-आधारित Hate Posts

नई दिल्ली, 11 जुलाई; माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने मंगलवार को ‘हेट स्पीच’ जैसी अमानवीय पोस्ट से बचने के लिए अपने नियमों में बड़े बदलाव करने के संकेत दिए हैं. जल्द ही कंपनी ऐसे किसी भी संदेश और पोस्ट पर तुरंत रोक लगाएगी, जो किसी न किसी तरह से नफरत फैलाते हैं. इतना ही नहीं जो लोग अपनी पोस्ट से मानवीय संबंधों को प्रभावित करते हों उन पर भी लगाम लगाएगा.

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर नफरत एवं ईर्ष्या से भरे पोस्ट की अमूमन बाढ़ सी होती है. ट्विटर, फेसबुक और इंस्टाग्राम यहां तक कि व्हाट्सएप्प पर भी ऐसे संदेशों के कारण कई बार विपरीत परिस्थितियां निर्मित हुई हैं और नुकसान आम मानवीय का ही हुआ है. हालांकि, इसके कुछ अच्छे पहलू भी रहे हैं.

यह भी पढ़ें-पवित्र काबा का भी बना ट्विटर अकाउंट, यह है काबा का पहला ट्वीट

ज्यादातर केस धर्म से जुड़े मामलों में सामने आ रहे हैं. एक छोटा सा संदेश जो किसी एक धर्म को टारगेट कर पोस्ट किया जाता है वो चंद सेकंड में अन्य लोगों के पास पहुंचते-पहुंचते आग का गोला बन जाता है और अंत मे धार्मिक उन्माद, मोब लीनचिंग जैसी घटनाओं के रूप में सामने आता है. ऐसे में पुलिस प्रशासन और यहां तक के लिए सरकारों के लिए भी इसे संभालना मुश्किल का काम हो जाता है. समय-समय पर ये कंपनियां इन तत्वों को रोकने के लिए कदम उठाती हैं लेकिन फिर भी वह कारगर नही हो पाता.

पिछले साल ट्विटर ने विभिन्न समुदायों से धर्म के आधार पर घृणित आचरण पर प्रतिबंध लगाने के लिए प्रतिक्रिया की मांग की. दो हफ्तों में, 30 से अधिक देशों में रहने वाले लोगों से 8,000 से अधिक प्रतिक्रियाएं मिलीं. ट्विटर ने कहा, ‘भाषाओं के अलावा, लोगों का ऐसा मानना था कि अधिक जानकारी उपलब्ध कराकर प्रस्तावित बदलाव में सुधार लाया जा सकता है.’ कई लोगों ने इन नियमों को निष्पक्ष तौर पर और लगातार बनाए रखने की ट्विटर की क्षमता के बारे में चिंता जताई है.

Recent Posts
Contact Us

We're not around right now. But you can send us an email and we'll get back to you, asap.

Not readable? Change text. captcha txt

Start typing and press Enter to search