अजमेर में उर्स की अनौपचारिक शुरुआत, इस बार नहीं होगी वीवीआईपी चादरों की रस्म

 In Islam, Saints and Service

अजमेर में उर्स की अनौपचारिक शुरुआत, इस बार नहीं होगी वीवीआईपी चादरों की रस्म

अजमेर स्थित ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह पर सालाना उर्स की अनौपचारिक शुरुआत हो गई है। दरगाह स्थित बुलंद दरवाजे पर झंडा चढ़ाने के साथ 806वें सालाना उर्स की अनौपचारिक शुरुआत हुई। भीलवाड़ा के गौरी परिवार द्वारा उर्स का झंडा चढ़ाया गया। झंडा चढ़ाने की रस्म के दौरान देश के कोनेकोने से अजमेर पहुंचे हजारों अकीदतमंत मौजूद रहे। परंपरा के मुताबिक गौरी परिवार उर्स का झंडा लेकर दरगाह के मुख्य दरवाजे की ओर बढ़ता है।यह मार्च मुस्तफा मार्केट और फूल गली से होते हुए निजाम गेट पहुंचता है। इस दौरान रास्ते में मौजूद लोग फूल बरसाते हैं। 806वें उर्स की विधिवत शुरुआत 19 मार्च को रजब का चांद दिखाई देने पर होगी।

दरगाह परिसर में सजी सूफी महफिल

अस्र की नमाज के बाद दरगार परिसर में सूफी संगीत की महफिल सजी। इस दौरान सूफी संगीत और कव्वालियां पेश की गईं।   

इस बार नहीं होंगी वीवीआईपी चादरों की रस्म

व्यवस्थाओं को दुरुस्त रखने के लिए इस बार वीवीआईपी चादरें पेश करने की रस्म की अनुमित नहीं होगी। वीवीआईपी चादरें खोलकर नहीं ले जाई जा सकेंगे। अजमेर पुलिस के मुताबिक वीवीआईपी चादरें पेश किए जाने के दौरान ट्रैफिक जाम हो जाता है और प्रबंधन में दिक्कतें आती हैं, इसलिए इस बार इसकी अनुमति नहीं दी गई है। ख्वाजा के उर्स के दौरान हर साल, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, राज्यपाल और दूसरे वीवीआईपी लोगों की ओर से चादर पेश की जाती है और उनका संदेश पढ़कर सुनाया जाता है लेकिन इस बार इजाजत नहीं होगी। 

उर्स के दौरान कड़े सुरक्षा इंतजाम

उर्स के दौरान 24 घंटे इमरजेंसी सेवाओं की व्यवस्था रहेगी और संदिग्ध व्यक्तियों पर निगरानी रखी जाएगी। 24 घंटे कंट्रोल रूम सक्रिय रहेंगे और उर्स में पहली बार दरगाह क्षेत्र में हर गतिविधि पर सीसीटीवी से निगरानी रखी जाएगी।

शुक्रवार के लिए विशेष इंतजाम

शुक्रवार की नमाज को देखते हुए पुलिस की ओर से खास इंतजाम किए गए हैं।इस दिन धान मंडी और निजाम गेट पर वरिष्ठ पुलिस अधिकारी तैनात रहेंगे।

प्रशासन भी मुस्तैद

ब्यावर आगजनी की घटना को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने उर्स इलाके में स्थित होटल और रेस्टोरेंट्स को विशेष निर्देश दिए हैं। सभी होटल और रेस्टोरेंट्स को कॉमर्शियल गैस सिलेंडर इस्तेमाल करना होगा और आग पर काबू पाने के उपकरणों की व्यवस्था आवश्यक होगी। गैस वितरण विभाग को भी जांच के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि रेस्टोरेंट्स और होटल में आईएसआई मार्का उपकरणों का इस्तेमाल ही किया जाए।

देशभर से पहुंचेंगे जायरीन, चिकित्सा विभाग को विशेष निर्देश

उर्स के दौरान देशभर से लाखों अकीदतमंद अजमेर पहुंचेंगे। ऐसे में डॉक्टर्स को संक्रमण वाली बीमारियों पर नजर रखने के लिए निर्देश दिए गए हैं। गर्मियां शुरू होने की वजह से संक्रमण वाली बीमारियों का खतरा ज्यादा रहेगा। ऐसे में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को  मुस्तैद रहना होगा।

जलदाय और बिजली विभाग को भी नियमित सप्लाई के निर्देश दिए गए हैं।साथ ही शिकायतों की निपटारे के लिए कंट्रोल रूम स्थापित करने के लिए कहा गया है।

============

रिपोर्ट डॉ. देवेन्द्र शर्मा

ईमेल: sharmadev09@gmail.com

Recommended Posts
Contact Us

We're not around right now. But you can send us an email and we'll get back to you, asap.

Not readable? Change text. captcha txt

Start typing and press Enter to search