ब्रह्मकुमारी शिवानी के साथ जयपुर की जनता ने लिया सतयुगी दुनिया का संकल्प

 In Meditation

ब्रह्मकुमारी शिवानी के साथ जयपुर की जनता ने लिया सतयुगी दुनिया का संकल्प

जयपुर, 22 जनवरी; छोटी काशी के नाम से मशहूर पिंकसिटी जयपुर में रविवार को दिन भर सकारात्मक ऊर्जा का फ्लो बना रहा। हजारों लोगों ने दिव्य ऊर्जा का अनुभव किया और अपना कार्मिक खाता दुरुस्त करने का प्रण लिया। गुलाबी सर्दी की शाम खचाखच भरे बिड़ला ऑडिटोरियम में मौजूद लोगों के जरिए पॉजिटिव वाइब्रेशन ना सिर्फ पूरे शहर में बल्कि कार्यक्रम में मौजूद श्रोताओं के जरिए उनसे जुड़े लाखों लोगों तक पहुंचे। सेलिब्रेटिंग लाइफ विद बीके शिवानी कार्यक्रम की शुरुआत मधुबन की मीठी धुनों के साथ हुई। ब्रह्म्कुमारी बहन सुषमा ने संस्था के बारे में परिचय दिया और उसके बाद इंटरनेशनल मोटिवेशनल स्पीकर राजयोगिनी ब्रह्म्कुमारी शिवानी को लोग लगातार दो घंटे तक रूहानी दुनिया में डूबकर सुनते रहे।

शांत मन देता है शक्ति:  राजयोगिनी बीके शिवानी ने शांति की शक्ति को समझाते हुए बताया कि कोई व्यक्ति चाहे अंदर से कितना भी अशांत हो लेकिन आस-पास के लोग शांत होंगे तो उनके वाइब्रेशन से अशांत व्यक्ति भी शांत हो जाएगा। शांत माहौल में वह कैसी भी परिस्थितियों में एडजस्ट कर लेगा लेकिन अशांत वातावरण वह और उग्र हो सकता है।

कार्मिक खाता रखें दुरुस्त: आज हम जो कुछ हैं वो हमारे कर्मों का फल है। हमारे कर्म ही हमारा भाग्य लिखते हैं। आत्मा शरीर छोड़ती है तो दुनियाभर की दौलत यहीं रह जाती है साथ में सिर्फ कर्मों की कमाई ही जाती है। किसी के लिए मन में कुछ गलत या नकारात्मक चल रहा है तो उसे जल्द से जल्द खत्म कर ऐसा खाता क्लोज करने की कोशिश करें। गलतियों को माफ करना सीखें और जैसे तो तैसा वाली प्रवृत्ति से छुटकारा पाएं। किसी के साथ बुरा बर्ताव करते हैं या किसी के लिए बुरा कहते हैं तो वह अगले जन्म में किसी ना किसी रूप में आकर हिसाब जरूर करेगा इसलिए बुराइयों और निगेटिव थॉट को अगले जन्म के लिए कैरी फॉरवर्ड ना करें बल्कि तुरंत खत्म कर दें।       

यह भी पढ़ें-स्वर्णिम भारत के निर्माण के लिए पवित्रता महत्वपूर्ण है: बीके शिवानी

परोपकार की सोचकर रख कर करें बिजनेस: पाप और छल से कमाई दौलत कभी साथ नहीं देती। फायदा सोचें लेकिन सिर्फ अपना नहीं बल्कि दूसरों का भी। बिजनेस में थोड़ा हेर-फेर तो चलता है, ऐसी सोच बिल्कुल गलत है। दौलत कमाई लेकिन पुण्य नहीं कमाया तो उस पैसे का कोई मूल्य नहीं। ऐसा भी नहीं होना चाहिए कि एक तरफ गलत कर्म करें और दूसरी तरफ दान-पुण्य करें। ऐसा कर आप अपने कर्मों को बैलेंस नहीं कर सकते। गलत तरीके से कमाए धन से जो भोजन बनता है उसमें वैसी ही एनर्जी होती है जो मन पर भी असर डालती है क्योंकि बहुत पुरानी कहावत है जैसा खाओ अन्न, वैसा हो मन। मन प्रभावित होता तो फिर तन पर भी असर होगा।

दुआओं के खाते में बढ़ाएं बैलेंस: आपका ड्राइवर देरी से आया और आपने उसे बुरी तरह डांट दिया तो वो दिनभर आपके लिए निगेटिव बोलता रहेगा। अपने दूसरे साथियों को भी आपके बारे में बताएगा और वो भी आपके लिए निगेटिव वाइब्रेशन भेजेंगे। लेकिन आपने प्यार से समझा दिया तो वह आपके लिए अच्छा ही बोलेगा और अपने साथियों को बताएगा तो वो भी कहेंगे वाह तुम्हारे साहब कितने अच्छे हैं। यानि आप शांत दिमाग से काम लेंगे तो आपकी एक समझदारी के बदले आपको ढेरों दुआएं मिलेंगी। 

सतयुगी दुनिया के लिए बनें पावन: कलियुगी दुनिया को सतयुगी बनाना है तो पहले खुद को पावन बनना होगा। खुद को शांत करना होगा, हर वक्त परमात्मा को याद कर पॉजिटिव एनर्जी के तालाब को भरना होगा। आत्मा को पवित्र बनाना पड़ेगा, अपने आस-पास के लोगों तक अच्छे वाइब्रेशन पहुंचाने होंगे। हर काम दिव्यता के साथ करना होगा। मन, कर्म और वचन से किसी का दिल नहीं दुखाना है बल्कि उसे खुशी के वाइब्रेशन देने होंगे।

यह भी पढ़ें-ब्रह्माकुमारीज का रेलवे से करार, पांच साल करेगी आबू रोड स्टेशन की सफाई

गुलाबी नगरी के हजारों लोगों ने राजयोगिनी शिवानी के साथ सतयुगी संसार का संकल्प लिया और शांत मन और दिव्य विचारों के साथ अपने घरों को लौटे। रविवार सुबह डॉक्टर्स के लिए भी हीलिंग द हीलर्स सेशन आयोजित किया गया। वहीं SMS स्टेडियम में भी राजयोगिनी शिवानी का सेशन हुआ। सतयुगी दुनिया के निर्माण के संकल्प को आगे बढ़ाते हुए बीके शिवानी 31 जनवरी को भी जयपुर की जनता के साथ मौजूद रहेंगी।

==========================================================

रिलीजन वर्ल्ड देश की एकमात्र सभी धर्मों की पूरी जानकारी देने वाली वेबसाइट है। रिलीजन वर्ल्ड सदैव सभी धर्मों की सूचनाओं को निष्पक्षता से पेश करेगा। आप सभी तरह की सूचना, खबर, जानकारी, राय, सुझाव हमें इस ईमेल पर भेज सकते हैं – religionworldin@gmail.com– या इस नंबर पर वाट्सएप कर सकते हैं – 9717000666 – आप हमें ट्विटर , फेसबुक और यूट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।
Twitter, Facebook and Youtube.

Recommended Posts
Contact Us

We're not around right now. But you can send us an email and we'll get back to you, asap.

Not readable? Change text. captcha txt

Start typing and press Enter to search