वर-वधु के विवाह में नाड़ी दोष का महत्व

वर-वधु के विवाह में नाड़ी दोष का महत्व भारतीय वैदिक ज्योतिष के अंतर्गत नाड़ी का निर्धारण जन्म नक्षत्र से किया जाता है। हर नक्षत्र में चार चरण होते हैं और 9 नक्षत्रों की एक नाड़ी मानी गई है। जन्म  [...]

Read More

क्या है आयुर्वेद, उसका इतिहास और चिकित्सा प्रणाली

क्या है आयुर्वेद और उसकी चिकित्सा प्रणाली आयुर्वेद विश्व में विद्यमान वह साहित्य है, जिसके अध्ययन पश्चात हम अपने ही जीवन शैली का विश्लेषण कर सकते है. आयुर्वेदयति बोधयति इति आयुर्वेदः. अर्थात जो [...]

Read More

जन्मकुंडली क्या होती है ? कैसे देखी जाती है जन्मकुंडली ? जन्म कुंडली के सभी भाव, गृह और सभी जानकारियां

जन्म कुंडली क्या होती है ? कैसे देखी जाती है जन्मकुंडली ? जन्म कुंडली के सभी भाव, सभी गृह और जन्म कुंडली के अन्य योगायोग वर्तमान में जब इंसान अपने जीवन में तमाम परेशानियों का शिकार है और जीवन में [...]

Read More